2022 Best Hindi Poems

झरना पर कविता | Poem on Waterfall in Hindi

झरना पर कविता | Poem on Waterfall in Hindi झरना एक ऐसा प्राकृतिक दृश्य है जिसके माध्यम से हम प्रकृति के अनमोल नजारे को देख पाते हैं साथ ही साथ झरने में हमें एक मधुर संगीत सुनाई देता है, जो हमें बहुत ही आकर्षित और मनमोहक जान पड़ता है। झरने से बहता हुआ कल कल करता हुआ पानी जब नीचे की ओर आता है तो ऐसा लगता है मानो झरना हमसे अपनी बातें कहना चाह रहा हो और हमें अपनी मुंह जबानी सुनाना चाह रहा हो। हम इंसान अक्सर किसी दुख की वजह से ठहर जाते हैं झरने का पानी हमें जीवन की हर परिस्थितियों में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। अतः इसे हम अपनी कविताओं में भी विशेष स्थान देते हैं।

 झरना पर कविता | Poem on Waterfall in Hindi

आज तक आपने कई सारे झरनों को देखा होगा लेकिन कभी भी उनके अंदर चल रही प्रतिध्वनी को सुनने की कोशिश नहीं की होगी।  अगर आप झरने की ध्वनि को सुनेंगे तो आपको उसमें एक अलग ही राग समझ में आएगा जिन्हें कविताओं में शामिल किया जाता है। 

अगर आप चाहें तो झरने के माध्यम से अपने भाव को व्यक्त कर सकते हैं साथ ही साथ आप अपने अंदर होने वाली हलचल को भी इन भावों के साथ जोड़कर कविताओं में शामिल कर सकते हैं। 

सामान्य रूप से देखा जाता है कि धरना दिखने में बहुत खूबसूरत होता है ऐसे में अगर आप पास से देखेंगे तो गौर करेंगे कि उनके पास कहने के लिए भी बहुत कुछ होता है, जो आप कविताओं में शामिल कर सकते हैं।

सुबह का झरना (Jharne Par Kavita)

सुब़ह का झ़रना, हमेशा हसने वाली औरते
झ़ूटपुटे की नदियॉ, खामोश गहरी औरते।
सडकों बाजारों मकानो दफ्तरो में रात-दिन
लाल-पीली सब्ज नीली, ज़लती बुझ़ती औरते।
शहर मे एक बाग हैं और बाग मे तालाब हैं
तैरती है उसमे सातो रंग वाली औरते।
सैकड़ो ऐसी दुकाने है जहां मिल जाएगी
धात की, पत्थर की, शीशें की, रबर की औरते।
इनकें अन्दर पक़ रहा है वक्त का आतिश-फ़िशान
कि पहाड़ो को ढ़के है बर्फ जैसी औरते।

झरना Poem On Spring

झ़र-झ़र बहता जाये झरना,
बात हमे बतलाये झरना।
आगें हम बढते ही जाए,
कभीं न पीछे वापस आये,
आगे जो पत्थर टक़राए।
उसकों भी हम पार कर जाये,
कभीं न भय सें वहीं रुक जाये,
साहस सें आगे बढ जाये।
हो चाहें कितनी भी कठिनाईं,
कभीं भी न हम हारें ओ भाईं,
निडर व्यक्ति वहीं कहलाये।
जो साहस सें आगे बढते जाये,
झरने जैंसे बहते जाये.
झरना हमे यहीं सिख़लाए।
झरझर बहता जाये झरना
सदा हमे बतलाये झरना।
-रौशनी

यह भी पढ़े

इस प्रकार से हम देखेंगे कि झरना प्राकृतिक रूप से खूबसूरत होते हुए हमें अपनी ओर खींचने की भरपूर कोशिश करता हैं, अतः झरने का शानदार दृश्य देखते ही हम उसे अपने कैमरे में कैद कर लेते हैं। 

कई बार झरने के आसपास के वातावरण को भी कविताओं के माध्यम से बयां किया जाता है, जिसे निश्चित रूप से ही एक बेहतर विकल्प के रूप में देखा जाता है।

जिससे आपकी कविताएं और भी खूबसूरत तरीके से लोगों के सामने आ सके और आप उनमें भावों को शामिल कर सकें। अगर आप अपनी कविताओं में प्राकृतिक रूप से झरनों के बारे में जानकारी देंगे तो देश के नागरिकों को या कविता प्रेमियों को बहुत ही अच्छा लगेगा जो प्राकृतिक चित्रण को दर्शाएगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें