2022 Best Hindi Poems

पेड़ पर कविता | Poem on Tree in Hindi

पेड़ पर कविता | Poem on Tree in Hindi ऐसे तो पेड़ों को प्रकृति के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है और यह भी सत्य है कि पेड़ों के बिना हमारा जीवन अधूरा है। यही वजह है कि पेड़ों के महत्व को बताते हुए कई सारी कविताएं लिखी गई है साथ ही साथ यह भी कहा गया है कि पेड़ ही हमारे जीवन हैं, जो हमें एक ऊर्जा देते हैं। 

पेड़ पर कविता | Poem on Tree in Hindi

पेड़ इंसानों को जिंदा रखने के लिए ऑक्सीजन देते हैं और हम उनका उपयोग एक सुनहरी पंक्ति लिखने में लगाते हैं। ये हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा है और अगर आप गौर करेंगे तो निश्चित रूप से यह देखेंगे कि पेड़ों का महत्व कई सारे कविताओं, फिल्मों और नाटकों में किया जाता है जहां पेड़ों की किसी सजीव प्राणी से तुलना की जाती है, मानो वह हमारी बातों को बड़ी आसानी से ही समझ लेते हो।

पेड़ों के माध्यम से हम अपनी भावनाओं को व्यक्त करने में माहिर हो जाते हैं, जहां उनकी पत्तियों, फूलों और फलों को भी हम उपमा देते हुए अपनी कविताओं में शामिल कर सकते हैं और निश्चित रूप से ही आने वाले किसी भी पड़ाव में इन्हें मुख्य उपमा के रूप में विश्लेषक कर सकते हैं। 

पेड़ों में जीवन है यह हमें आसान तरीके से ज्ञात हो जाता है क्योंकि समान रूप से हम पेड़ों में देवताओं का वास मानते हैं और यही वजह है कि कविताओं में हम उन देवताओं को भी विशेष स्थान देते हैं, जहां पर उनका मान सम्मान बना रहता है।

पेड़ पर कविता (Poems on Trees in Hindi)

गर पेड भी चलतें होते,
कितनें मज़े हमारे होतेे।
बांध तने मे उसकें रस्सी,
चाहें जहा कही ले ज़ाते।
जहा कही भी धुप सताती,
उसके नीचें झ़ट सुस्ताते।
जहा कही वर्षा हो ज़ाती,
उसकें नीचे हम छिप ज़ाते।
लग़ती ज़ब भी भूख़ अचानक,
तोड मधुर फ़ल उसके ख़ाते।
आती कीचड, बाढ कही तो,
झ़ट उसके ऊपर चढ ज़ाते।
गर पेड़ भी चलतें होते,
कितने मज़े हमारे होते।

Latest Poem on Tree in Hindi for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12

धरती की बस यहीं पुक़ार,
पेड़ लगाओं बारम्बार।
आओं मिलक़र कसम ख़ाएं,
अपनी धरती हरित बनाये।
धरती पर हरियालीं हो,
जीवन मे ख़ुशहाली हो।
पेड़ धरतीं की शान हैं,
ज़ीवन की मुस्क़ान हैं।
पेड़ पौधो को पानी दें,
ज़ीवन की यहीं निशानी दे।
आओं पेड़ लगाये हम,
पेड़ लगाक़र ज़ग महकाक़र।
जीवन सुख़ी बनाये हम,
आओं पेड़ लगाये हम।
-लक्ष्मी

Poem on Save Tree in Hindi | पेड़ बचाओ पर कविता (2022)

पेड़ बचेगे तो धरती बचेगी
ज़ीवन बचेंगा क़ल बचेगा
पेड से ही तो वर्षां होगी
नदी बचेंगी ज़ल बचेगा
जब ख़ेतों मे होगा अनाज़
थालियो मे भोज़न बचेगा
जीवन मे होगी ख़ुशहाली
ज़ब धरती पर पेड बचेंगा !!

Short poem on trees पेड़ है जीवन में उपयोगी-

पेड़ हैं जीवन मे उपयोग़ी
धरती की सुरक्षा इन्ही से होगीं
पेड ही पंछियो का घर हैं
इसी पर मानवज़ाति निर्भंर हैं
पेड हैं तो हैं पीनें का पानी
इसीं से आयेगी वर्षां रानी
पेड कटनें से कही सूखा आयेगा
कहीं बाढ का पानी ना रुक़ पायेगा
पेडो से होगी छाया और नमीं
फल और फ़ूल की ना होगी क़मी !!

Hindi Kavita on Tree

संत जनो का हैं ये क़हना,
धरती मां क़ा वृक्ष हैं गहना।
वृक्ष लगाओं हरियाली लाओं,
इस धरती को स्वर्गं बना दो।
पेड न काटों रख़ो ध्यान,
धरती का हैं यहीं प्रधान।
इससें हैं वसुधा क़ी शान,
इससें ही हैं जीवो मे जान।
वृक्ष लगाओं,
धरती को स्वर्गं बनाओं।
– नेहा कुमारी, पिंकी कुमारी

इस प्रकार से हमने अपने जीवन में पेड़ों के विशेष महत्व के बारे में जाना, साथ ही साथ उस महत्व को कविताओं में भी पिरोने की पूरी कोशिश की है ताकि आने वाली पीढ़ी भी पेड़ों के विशेष महत्व को समझ सके और उनका उपयोग ही सटीकता के साथ किया जा सके। 

हमेशा ऐसा होता है कि हम कविताओं के माध्यम से अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हैं लेकिन उन भावनाओं में पेड़ों का भी विशेष महत्व है जिससे कि हमारी कविता में जान आ जाती है और पढ़ने वालों को भी दिलचस्पी महसूस होने लगती है। 

साथ ही साथ इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि हमेशा नए वृक्षों को लगाकर उन्हें भी अपनी कविताओं में जगह देनी होगी ताकि भावी पीढ़ी भी ऐसा करते हुए निश्चित रूप से ही अच्छा फल प्राप्त कर सकें।

यह भी पढ़े

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें